पेंशनरों को 119 प्रतिशत महँगाई भत्ता राहत मिलेगी

भोपाल ! मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड, एमपी पावर मेनेजमेंट कंपनी लिमिटेड एवं मध्यप्रदेश राज्य विद्युत मण्डल से सेवानिवृत्त पेंशनरों को 119 प्रतिशत महँगाई राहत मिलेगी। जारी आदेश के अनुसार एक जून 2005 से पूर्व सेवानिवृत्त पेंशनर/परिवार पेंशनरों को जिन्हें वर्तमान में 113 प्रतिशत महँगाई राहत देय थी, में 6 प्रतिशत की वृद्धि कर 1 जुलाई 2015 से 119 प्रतिशत महँगाई राहत देय होगी।

पेंशनरों को बढ़ी हुई महँगाई राहत राशि‍का भुगतान माह नवंबर 2015 की पेंशन के साथ नगद किया जायेगा। साथ ही गत माह जुलाई से माह अक्टूबर 2015 की अवधि ‍की देय राशि‍ का भुगतान चार मासिक किश्त में नवंबर 2015 से फरवरी 2016 की पेंशन के साथ नगद किया जायेगा।

Advertisements

मतदाता सूची में गलत तरीके से नाम जुड़वाने पर कार्रवाई होगी

वर्तमान में मतदाता सूची में नये नाम जोड़े जाने का काम चल रहा है। मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के इच्छुक सभी व्यक्तियों से कहा गया है कि यदि उनका नाम मतदाता सूची में पहले से है तो वे अपनी पहचान छिपाकर या अन्य साधनों का उपयोग कर डबल नाम जुड़वाते हैं तो इसके लिये आवेदक मतदाता स्वयं दोषी होगा। ऐसा करने पर निर्वाचन अधिनियम के अनुसार नियमानुसार दंडित करने कार्रवाई की जायेगी।

विभागीय जाँच में आरोप-पत्रादि की तामीली ई-मेल से होगी

भोपाल ! मध्यप्रदेश में अब निलंबन/बहाली के आदेश और विभागीय जाँच में आरोप-पत्रादि सहित दण्डादेश की तामीली शासकीय सेवक को ई-मेल के माध्यम से की जायेगी। राज्य शासन ने इस संबंध में सभी विभाग, संभागायुक्त, विभागाध्यक्ष, कलेक्टर और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देश जारी किये हैं। सभी अनुशासनिक प्राधिकारियों को निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करवाने के लिये कहा गया है।

अभी राज्य शासन द्वारा शासकीय सेवकों के विरुद्ध उनके अवचार कृत्यों के लिये विभागीय जाँच अथवा अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाती है। निलंबन, मुख्य एवं लघु शास्ति के लिये जाँच प्रक्रिया के प्रावधान अनुसार निर्धारित समय में आरोप-पत्राधि सहित अन्य आदेश जारी किये जाते हैं। आरोप-पत्राधि की तामीली की जिम्मेदारी संबंधित अनुशासनिक प्राधिकारी की होती है। अनेक बार ऐसी स्थितियाँ बन जाती हैं कि आरोप-पत्र समयावधि में तामील नहीं हो पाते। यही स्थिति निलंबन/बहाली आदेश एवं दण्डादेश में भी बनती है। इससे संबंधित द्वारा निर्धारित समय-सीमा में उत्तर दे पाना संभव नहीं हो पाता। भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश शासन की ई-मेल नीति के अनुसार ई-मेल से किये गये सभी शासकीय पत्र-व्यवहार को कानूनी मान्यता भी मिल चुकी है।

भाजपा के लिए सिरदर्द साबित हो रहा झाबुआ में रोजगार गारंटी के काम

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी की सरकार के मुखिया सहित तमाम नेताओं द्वारा इस लोकसभा उपचुनाव के दौरान झाबुआ के विकास के बड़े-बड़े दावे व वायदे किये जा रहे हैं लेकिन स्थिति यह है कि चाहे कांग्रेस का शासन काल हो या भाजपा का दोनों ही पार्टी की सरकारों के कार्यकाल के दौरान झाबुआ के विकास के लिये जितनी धनराशि केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा इस जिले के विकास के लिये आवंटित की गई यदि उस सबको लेखा-जोखा तैयार किया जाए और उस बजट राशि के अनुपात पर खर्च किये जाने का जोड़भाग लगाया जाए तो यही सामने आएगा कि झाबुआ के विकास के नाम पर चाहे भाजपा हो या कांग्रेस दोनों ही सरकार के कर्ताधर्ताओं ने झाबुआ के विकास और खासकर आदिवासियों के उत्थान के लिये कोई ईमानदारी से प्रयास नहीं किये हैं, झाबुआ के लोगों का इस संबंध में यह कहना है कि चाहे भाजपा हो या कांग्रेस दोनों के नेता भले ही झाबुआ के विकास के बड़े-बड़े दावे करें लेकिन उसकी जमीनी हकीकत यह है कि झाबुआ में विकास के नाम पर दोनों ही पार्टी के नेताओं ने और खासकर इस जिले में अभी तक पदस्थ अधिकारियों ने जिले के विकास और खासकर आदिवासियों के विकास के नाम पर अपना तो विकास किया है लेकिन आज इस जिले के लोगों की स्थिति ज्यों की त्यों ही बनी हुई है। इन लोगों का यह भी दावा है कि यदि आजादी के बाद से झाबुआ जिले के विकास के नाम पर जितनी राशि केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा इस जिले के लिये दी गई है यदि वह राशि यहां के लोगों को नगद दे दी जाती तो शायद कुछ विकास नजर आता, मगर जिले की मूलभूत सुविधाएं सरकार द्वारा प्रदान करने के नाम पर केवल और केवल फर्जीवाड़ा ही हुआ है, तभी तो यह स्थिति है कि इस जिले का आदिवासी यहां से पलायन करने को मजबूर है। सरकार भले ही यह दावा करे कि जिले में रोजगार गारंटी योजना के तहत अधिकांश लोगों को काम दिया जा रहा है लेकिन सरकारी रोजगार गारंटी योजना की यह स्थिति है कि ना तो उससे इन लोगों को पर्याप्त मजदूरी मिलती और ना ही समय पर पैसा, जबकि इसी जिले के सीमावर्ती प्रांत गुजरात में इन्हीं आदिवासियों को ठेकेदारों द्वारा रोजगार गारंटी की तुलना में कहीं अधिक मजदूरी दी जाती है और वह वहां खुशी-खुशी मजदूरी करने के लिये जाते हैं। रोजगार गारंटी के तहत सालभर में दस हजार रुपये की सरकारी मजदूरी दी जाती है जबकि गुजरात में एक माह में यहां मजदूरी करने जाने वाले परिवारों को दस हजार से ज्यादा मजदूरी के मिलते हैं। मजदूरी की इस विसंगति के चलते कोई भी व्यक्ति रोजगार गारंटी का काम करने के लिये तैयार नहीं होता, क्योंकि सरकारी रोजगार गारंटी में काम मिलने पर न तो समय पर पैसा मिलता है और वहीं जितनी मेहनत वह करते हैं उतनी राशि उन्हें मजदूरी की नहीं मिलती। यही वजह है कि मध्यप्रदेश सरकार की रोजगार की कोई भी योजना में झाबुआ के निवासियों को कोई दिलचस्पी नहीं है इससे यह भी संकेत मिलते हैं कि रोजगार गारंटी जैसे मामले में लोगों को रोजगार देने के जो आंकड़ें हैं उनमें कहीं न कहीं फर्जीवाड़ा नजर आता है।

कच्चे तेल की कीमत 40.03 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भारतीय बॉस्केट के कच्चे तेल की कीमत 40.03 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल हो गई है।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अंतर्गत के अनुसार भारतीय बॉस्‍केट के लिए कच्‍चे तेल की अंतर्राष्‍ट्रीय कीमत बुधवार को घटकर 40.03 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल हो गई, जबकि मंगलवार को यह 40.27 अमरीकी डॉलर प्रति बैरल थी।

रुपये के संदर्भ में, कच्‍चे तेल की कीमत बुधवार को घटकर 2646.82 रुपए प्रति बैरल हो गई, जबकि मंगलवार को 2657.22 रुपये प्रति बैरल थी। बुधवार को रुपया कमजोर होकर 66.11 रुपये प्रति अमेरिकी डॉलर पर बंद हुआ, जबकि मंगलवार को यह 65.98 रुपये प्रति अमेरिकी डॉलर पर बंद हुआ था।

फ्रांस ने नहीं की मास्टरमाइंड के मारे जाने की पुष्टि

पेरिस। फ्रांस की राजधानी पेरिस में हुए आत्मघाती हमले के मास्टरमाइंड अब्देलहामिद अबाउद की पुलिस छापे के दौरान मारे जाने की अभी तक पुष्टि नहीं की है। हालांकि वाशिगटन पोस्ट सहित तमाम मीडिया में खुफिया अधिकारियों के हवाले से मास्टरमाइंड के मारे जाने की खबर प्रकाशित की है।

पेरिस के सेंट डेनिश में बुधवार को आतंकियों और पुलिस के बीच सात घंटे चली मुठभेड़ के बाद फ्रांसीसी पुलिस की छापेमारी में एक महिला आत्मघाती हमलावर समेत कम से कम दो लोग मारे गए थे। बताया जा रहा है कि छापे के दौरान एक महिला ने खुद को विस्फोट से उड़ा लिया था और एक अन्य संदिग्ध को गोली मार दी गई थी। महिला को अबाउद की पत्नी बताया जा रहा है।

पेरिस के अभियोजक फ्रांस्वा मेलिस ने कहा है कि एक फ्लैट पर पुलिस का छापा खत्म होने के बाद शुक्रवार को पेरिस में हुए हमले के संदिग्ध षडयंत्रकारी के बारे में अब भी कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि मारा गया आतंकी अबाउद है या नहीं फिलहाल यह आधिकरिक रूप से नहीं का जा सकता है। मलबे में मिले मानव अवशेषों का फिलहाल पता लगाया जा रहा है। ऐसा

जानकारी हो कि अब्देलहामिद अबाउद ने पेरिस में गोली चलाने और बम हमलों की साज़िश रची थी। इन हमलों में 129 लोग मारे गए थे।

भोग के भूखें नही होते भगवान

भरतपुर। इंदिरा नगर हीरादास चौराहे के पास चल रही श्रीमद् भागवत कथा के कथा वाचक पं. गिरधर लाल ने भगवान और भक्त के बीच संबंधों पर चर्चा की । प्रवचन करने गिरधर लाल ने कहा कि भगवान भोग के नहीं भाव के भूखे होते उन्हें।श्रद्धा ,भक्तिपूर्ण तरीके से भोग लगाने वाले भक्त का कल्याण अवश्य होता है।उन्होनें इस संबंध में एक कथा सुनाई ।उन्होनें कहा कि भगवान भोग के नहीं वरन भाव के भूखे होते है क्योंकि भगवान अगर भोग के भूखे होते तो गरीबों का तो नंबर ही नहीं आता। कथा के बीच-बीच में भजनों की ब्यार बहती रही थी जिस पर भक्त और महिलाऐं भक्तिभाव में विभोर होकर नाचने लगें

आत्मा कभी भी मरती नहीं है वे केवल शरीर बदलती हैं- मुनिश्री

बुरहानपुर। भक्ति कैसी हैं, परम प्रेम व अमृत स्वरुपा हैं। यानी जो जीव अंक बार भक्ति के सागर में उतर जाता हैं तो वे अमृतत्व को पा लेता हैं। भक्ति की गहराई में हम जितना चले जाये तो भक्त और भगवान में भेद नहीं रह जायेगा। भक्ति करने से वह अमर को पा सकता है। आत्मा कभी भी मरती नहीं है वे केवल शरीर बदलती है। वे शरीर बदलकर नये रुप को धारण करती है, आज जो हम पढ़ाई, लिखाई, कमाई, ऐशो आराम कि वस्तुये खरीद रहे है।

नये व आलीशान मकान बनारहे वे केवल इस शरीर के लिए कर रहे है। शरीर मरा ही हुआ है, जो पहले से ही मरा हुआ है वह मरता नहीं है। आत्मा के लिए शरीर एक नये कपड़े के समान है। आत्मा अमर है, यदी मनुष्य को बहुत प्यास लगी हो ओर पीने का पानी ना हो और केवल घोबी घाट पर पानी हो तो वह जल पीकर भी अपनी प्यास बुझा ले लेता है। आज जो भी सूख दिख रहा है वह लौकिक सुख है। परमात्मा की भक्ति के अलावा कोई भी सुख नहीं हो सकता है। श्री इन्द्रध्वज महामंड़ल विधान के प्रथम दिन आचार्यश्री 108 विशुघ्द सागर महाराज की परम शिष्य मुनिश्री 108 प्रमेयसागर महाराज ने इन्द्र महल राजस्थान भवन में सुबह 10 बजे कहे। पंकज व संदीप जैन ने बताया कि सुबह 6:30 बजे जाप्यानुष्ठान, श्रीजी अभिषेक, शांतिधारा इन्द्र जम्बुकुमार पहाडिय़ा व सुभाष ईशान मालेगांव वालो ने की।

मंड़ल विधान पर मंगल कलश व नेवद कोण कलश स्थापना पवन हिम्मत पाटौदी, ईशान कोण कलश भवरीदेवी बाबुलाल सेठी, अग्नि कोण कलश चन्द्रशेखर जटाले, वायद कोण कलश सागरमल सुभाष सेठी, अखंड़ दीप प्रज्जवलन प्रमोद जयेश जैन को प्राप्त हुआ। पंडि़त नरेश जैन ने विधी विधान से अभिषेक, कलश स्थापना, नित्य नियम पूजन व संगीकमय मंड़ल विधान की पूजन की। अष्ट प्रतिहार्य व अष्ट मंगल की स्थापना मंड़ल पर किए गये। सागर संगीतकार सुधीर जैन ने भक्तिमय भजनो पर समाजजन थिरके। सायंकाल की महाआरती का सौभाग्य पलक जयेश जैन को प्राप्त हुई।

जागनाथ महादेव मंदिर पर अन्नकुट 25 को

रतलाम। श्री राजपूत नवयुवक मण्डल, न्यास एवं महिला मण्डल के तत्वावधान में कार्तिक पूर्णिमा के पावन अवसर पर 25 नवंबर बुधवार को श्री जागनाथ महादेव मंदिर पर अन्नकुट का आयोजन किया जाएगा।

प्रवक्ता राजेन्द्रसिंह गोयल ने बताया कि महोत्सव के तहत महादेव का आकर्षक शृंगार कर व 56 प्रकार के पकवानों का भोग लगाकर प्रात:11 बजे महाआरती की जाएगी। आरती के बाद अन्नकुट महाप्रसादी का वितरण किया जाएगा।

हनुमान मंदिर पर अन्नकुट महोत्सव आज

आमलिया भैरू काटजू नगर कार्नर स्थित श्री संकट मोचन हनुमान मंदिर पर 19 नवंबर को गुरूवार को अन्नकुट महोत्सव का आयोजन बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है।

मंदिर के पुजारी गोपाल पण्डया ने बताया कि अन्नकुट महोत्सव में हनुमान जी आकर्षक अंगरचना कर व 56 भोग लगाकर प्रात: 11: बजे महाआरती की जाएगी। आरती के बाद महाप्रसादी का वितरण किया जाएगा।

उपचुनाव में महत्वपूर्ण है युवाओं की भूमिका : नंदु भैया

रतलाम। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान ने भाजयुमों के युवा मतदाता सम्मेलन में कहा कि भाजपा राष्ट्रीयता में विश्वास करने वाली पार्टी है। धार्मिक आधार पर कोई भेदभाव करती है और सबको साथ लेकर चलती है। प्रधानमंर्ती नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के गठन में युवाओं का बहुत बड़ा हाथ रहा है। रतलाम लोकसभा के उपचुनाव में भी युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है।

रुद्र पैलेस में हुए युवा सम्मेलन में युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमरदीपसिंह मौर्य, राष्ट्री महामंत्री राहुल कोठारी, प्रदेश भाजपा कोषाध्यक्ष एवं विधायक चेतन्य काश्यप, मोहन यादव, राज्य वित्त आयोग अध्यक्ष हिम्मत कोठारी, रतलाम प्रभारी गोलू शुक्ला, मिलंद भार्गव, विनीत यादव व भाजयुमो के जिलाध्यक्ष बलवंत भाटी मंचासीन थे।

श्री चौहान ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया बेपटरी होने वाले नेता है। उन्हें कुछ याद नहीं रहता। केंद्रीय मंत्री रहने के दौरान उन्होंने झाबुआ में रेल लाइन बिछाने की बात कही थी लेकिन इतने वर्षों तक मंत्री रहने के बाद भी कुछ नहीं कर सके। उन्होंने युवाओं से क्षेत्र के विकास की गति को बढाने हेतु भाजपा की जीत में भागीदार बनने का आह्नान किया। भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष अमरदीपसिंह मौर्य स्कील इंडिया पर बात रखी।

उन्होंने कहा कि चीन इकोनामी 75 प्रतिशत और जापान की 70 प्रतिशत है, जबकि भारत की 3 प्रतिशत ही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार युवाओं को रोजगार देकर आत्म निर्भर बनाने की दिशा में अग्रसर है। इससे भारत जल्दी अग्रणी पंक्ति में शामिल होगा। उन्होंने युवाओं से उपचुनाव को महत्वपूर्ण मानकर भाजपा की जीत सुनिश्चित करने का आह्नान किया। विधायक चेतन्य काश्यप ने रतलाम के विकास पर प्रकाश डाला।