रतलाम-झाबुआ की जनता भाजपा को सिखायेगी तीखा सबक

रतलाम-झाबुआ की जनता भाजपा को  सिखायेगी तीखा सबक
भारी जनसमुदाय के बीच कांगे्रस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया
ने जिला निर्वाचन अधिकारी के समक्ष किया नामांकन दाखिल
महेंद्र सिंह संवाददाता
भोपाल । प्रदेश में होने जा रहे रतलाम-झाबुआ संसदीय उपचुनाव निर्वाचन क्षेत्र के लिए कांगे्रस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया ने आज जिला निर्वाचन अधिकारी, झाबुआ के समक्ष कांगे्रस के अ.भा. प्रभारी महासचिव मोहन प्रकाश, प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष अरूण यादव, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचैरी एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं, विधायकों, पूर्व सांसद, प्रदेश कांगे्रस पदाधिकारियों एवं हजारों की संख्या में पार्टीजनों की मौजूदगी में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।
नामांकन पत्र दाखिले के बाद महती चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उक्त सभी नेताओं ने एक स्वर में कहा कि असहिष्णुता के माहौल, महंगाई, तुअर दाल सहित अन्य खाद्य पदार्थों की कीमतांे में उत्तरोत्तर वृद्धि, भ्रष्टाचार, कानून-व्यवस्था, साम्प्रदायिक तनाव, मुनाफा-जमाखोरी, किसानों द्वारा की जा रही आत्महत्याऐं, बेरोजगारी, महिलाओ, दलितों (अजा-अजजा), अन्य पिछड़ा वर्ग पर बढ़ते अत्याचार, बलात्कार, सामूहिक बलात्कार, यौनाचार जैसे गंभीर मुद्दों से तंग देश-प्रदेश और रतलाम-झाबुआ की जागरूक जनता आने वाले दिनों में भाजपा को तीखा सबक सिखायेगी।
सभी वरिष्ठ कांगे्रस नेताओं ने एक स्वर मंे प्रदेश भर में हजारों किसानों द्वारा फसलों की बर्बादी और राज्य सरकार की अकर्मण्यता को लेकर की जा रहीं आत्महत्याओं के नहीं थमने वाले दौर पर निशाना साधते हुए कहा कि दिवालिया सरकार के मुखिया शिवराजसिंह चैहान सिर्फ शब्दबाणों से किसानों के आंसू पौछने की नाकाम कोशिशें कर रहे हैं। निरंतर छह वर्षों से बर्बाद हो रहे किसानों को मुआवजे के नाम पर सिर्फ ठेंगा दिखाया जा रहा है। मुख्यमंत्री और अन्य मंत्रियों के पास सरकार के खजाने से विदेशों में घूमने के लिए पैसा है, प्रधानमंत्री 19 महीने में 22 देशों की यात्राऐं कर करीब 30 हजार करोड़ रूपयों की खैरात बांट आये हैं, परन्तु मप्र के किसानों को मुआवजा, ऋण माफी और बिजली के बिली की माफी के लिए पैसा नहीं है। ‘‘अच्छे दिन लाने’’ का दावा सिर्फ जुमला ही साबित हुआ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विदेश से काला धन वापिस लाकर हर नागरिक के खाते में 15 लाख रूपये जमा करने का दावा कर रहे थे, यह भी एक जुमला ही था, किंतु म.प्र. में एक गरीब बच्चे द्वारा मात्र एक रूपया मांगने पर उसे मंत्री की लात खाना पड़ी, शायद भाजपा के लिए अच्छे दिनों की यही परिभाषा है। नेताओं ने कहा कि रतलाम-झाबुआ और देवास निर्वाचन क्षेत्रों में हो रहे उपचुनाव भाजपा को उसकी हैसियत दिखा दंेगे।
इस अवसर पर कांगे्रस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया ने भी संबोधित कर मतदाताओं से क्षेत्र के विकास के लिए न केवल आशीर्वाद मांगा, बल्कि विश्वास भी दिलाया कि विकास और प्रगति के हर आयामों को मैं अपनी राजनैतिक कार्यशैली के अनुरूप सार्थकता प्रदान करूंगा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s