25 नवम्बर से प्रदेश में पेट्रोल एक रुपए प्रति लीटर होगा महंगा

(भोपाल) २५ नवम्बर से प्रदेश में पेट्रोल एक रुपए प्रति लीटर होगा महंगा

(भोपाल)। केन्द्र की यूपीए सरकार के दौरान भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता से लेकर छोटे नेता तक सदन से लेकर सड़क तक महंगाई और भ्रष्टाचार को लेकर अक्सर हंगामा खड़ा किया करते थे इन्हीं मुद्दों का लाभ उठाकर २०१४ में मोदी के नेतृत्व में लड़े गए लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी से लेकर हर भाजपा नेता ने देश की जनता को यह झुनझुना पकड़ाया कि उनकी सरकार आएगी तो महंगाई १०० दिन में खत्म हो जाएगी और विदेशी बैंकों में जमा भारतीय व्यापारियों और राजनेताओं के काला धन वापस लाकर प्रत्येक भारतीय नागरिक के खाते में १५-१५ लाख रुपये जमा कर दिये जायेंगे का झूठा वायदा करके भाजपा सत्ता में आई लेकिन आज केन्द्र की सरकार को १८ महीने से ज्यादा का समय होने को है और न तो महंगाई कम हुई और ना ही भारतीय नागरिकों के खाते में १५ लाख तो क्या १५ पैसे भी जमा नहीं हुए, जहां तक मध्यप्रदेश सरकार का सवाल है तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रधानमंत्री मोदी के विकल्प के रूप में प्रधानमंत्री बनने का सपना जो साकार किया उसकी वजह से आज राजनीतिक कारणों के चलते मोदी सरकार ने एक के बाद एक प्रदेश की योजनाओं में कटौती कर दी तो वहीं प्रदेश सरकार को पर्याप्त धनराशि नहीं मिल रही है स्थिति यह है कि खस्ता आर्थिक हालत और प्रदेश के खाली खजाने के चलते अपनी रोजमर्रा के खर्चों के लिये सरकार एक के बाद एक सरकारी परसम्पत्तियों को गिरवी रखकर बाजार से धड़ल्ले से कर्जा उठाकर प्रदेश के नागरिकों को कर्जदार करने में लगी हुई है वहीं दूसरी ओर प्रदेश की जनता के भी अब अच्छे दिन नजर आने लगे हैं जो केन्द्र सरकार की बेरुखी के चलते अपना खाली खजाना भरने के लिये लगातार प्रदेश में लगने वाले करों में इजाफा करने में लगी हुई है स्थिति यह है कि अब रतलाम लोकसभा और देवास विधानसभा उपचुनाव के परिणाम आने के दूसरे दिन ही राज्य में पेट्रोल के दाम बढ़ जायेंगे। सरकार पेट्रोल पर प्रति लीटर एक रुपया अतिरिक्त कर लगा सरही है। इस संबंध में वाणिज्यिक कर विभाग ने नोटिफिकेशन जारी किया है। सरकार ने इसका अध्यादेश तो पहले ही मंजूर करा लिया है, लेकिन उपचुनाव को देखते हुए इसका उपयोग नहीं किया। २४ नवम्बर को परिणाम आने के बाद २५ नवम्बर से पेट्रेाल एक रुपया महंगा हो जाएगा। सूत्रों का कहना है कि आगे चलकर इस एक्ट के सहारे डीजल पर भी अतिरिक्त टैक्स लगेगा। फिलहाल सूखे को देख्तो हुए इसमें राहत दी गई है। कारण सबसे ज्यादा डीजल का उपयोग जनरेटर और ट्रेक्टर में किया जाता है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s