जिला स्तरीय युवा उत्सव’’ सम्पन्न

जिला स्तरीय युवा उत्सव’’ सम्पन्न

भोपाल। कार्यालय जिला खेल एवं युवा कल्याण अधिकारी भोपाल व्दारा जिला स्तरीय युवा उत्सव का आयोजन आज दिनाॅक 16 दिसम्बर 2015 को शासकीय कमला नेहरू कन्या उ0मा0 विद्यालय, टी0टी0 नगर, भोपाल मंे किया गया। जिसमें सामूहिक लोकनृत्य, सामूहिक लोक गीत, एकांकी नाटक, शास्त्रीय संगीत (हिन्दुस्तानी एवं कर्नाटक शैली, शास्त्रीय वाद्य यंत्र) सितार, बंसुरी, तबला, वीणा, मृदंगय, हारमोनियम एवं गिटार, (षास्त्रीय नृत्य) भरत नाट्यम, कत्थक, कुचीपुडी, मणिपुरी एवं ओडीसी तथा वकृत्वकला की विधाओं में प्रतिभागियों ने अपनी प्रस्तुति दी।
इस आयोजन में भोपाल जिले के 15 से 35 वर्ष की आयु के 350 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। इससे पूर्व प्रतियोगिता का शुभारम्भ जिला खेल अधिकारी भोपाल जोस चाको व निर्णायकगणों द्वारा दीप प्रज्जवलन एवं सरस्वती वंदना के साथ किया गया। प्रतियोगिता के परिणाम निम्नानुसार रहे:-
1 बासुरी सुमित कोल्हे

2 हारमोनियम अमन मलिक
मनोज बामनिया
3 शास्त्रीय गायन वाणी राव
अक्षय द्विवेदी
4 भरतनाट्यम सुप्रिया मंत्री
मालविका पिल्लई
5 तबला ऋषिकेष मालवीय
मुनि मालवीय
6 गिटार अमरीष कलेल
आकांक्षा कंसकार
7 नाटक वसीम अली ग्रुप (नाटक – लछिया)
अरविंद सिंह राजपूत व साथी (बेटी बचाओं व बाल विवाह पर रोक, पर आधारित)
8 लोकगीत अंकित रिछारिया (बुुंदेली गीत)
नेत्रांजलि द्विवेदी (बंुदेली गीत)
9 वकृत्वकला शुभम चैहान
अभिषेक शर्मा
10 लोकनृत्य लोक रंगदर्पण कला केन्द्र
कमला नेहरू स्कूल
11 वीणा वादन निनाद अधिकारी

जिला स्तरीय युवा उत्सव का समापन माननीय सुरेन्द्रनाथ सिंह विधायक मध्यक्षेत्र भोपाल, जी0एल0 यादव पूर्व अन्र्तराष्ट्रीय व अर्जुन अवार्डी खिलाड़ी, जिला खेल अधिकारी जांेस चाको एवं श्री आर0एन0 शर्मा, प्राचार्य शा0 कमला नेहरू कन्या उ0मा0 विद्यालय, टी0टी0 नगर भोपाल द्वारा विजेता/उपविजेता प्रतिभागियों को पुरस्कार वितरण कर किया गया। जिला स्तरीय प्रतियोगिता मंे विजेता प्रतिभागी कल दिनांक 17 दिसम्बर 2015 को आयोजित संभाग स्तरीय युवा उत्सव में भोपाल जिले का प्रतिनिधित्व कर अपनी भागीदारी प्रस्तुत करेगें ।

कार्यक्रम के मुख्य बिंदु:-

एकांकी नाटक:- प्रथम एकांकी नाटक अरविंद सिंह राजपूत व साथियों द्वारा प्रस्तुत किया गया। जिसमें समाज में चल रही कुरीतियों का मंचन किया साथ ही ‘‘बेटी बचाओं व बाल विवाह पर रोक’’ का संदेष दिया गया।
दूसरा एकांकी नाटक वसीम अली व साथियों द्वारा प्रस्तुत किया गया जिसमें एक लछिया नाम के किरदार की जोकि समाज के तृतीय वर्ग (न महिला, न पुरूष) से संबंधित हैं, के सामाजिक रूप से दी गई प्रताड़नाओं व परिस्थितियों का जीवंत मंचन कर दर्षाकों की वाह-वाही व तालियाॅ बटोरी।

लोकनृत्य:- लोक दर्पण कला केन्द्र द्वारा एक बधाई लोकनृत्य प्रस्तुत किया गया जोकि भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव को दर्षाता हैं। दर्षको को लोकनृत्य व लोकनृत्य के बोल ‘‘ जनम लियो रघुरैया अवध में बाजे बधैया’’ दर्षको को काफी पसंद आया।
इसी क्रम में कमला नेहरू स्कूल की बालिकाओं द्वारा प्रस्तुत लोकनृत्य भी ‘‘बेटी बचाओं’’ का संदेष देते हुये नारी को आदिषक्ति का रूप बताते हुये उनकी विभिन्न कलाओं का प्रदर्षन किया ।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s