मध्यप्रदेश का औद्योगिक विकास फास्ट ट्रेक पर

मध्यप्रदेश का औद्योगिक विकास फास्ट ट्रेक पर

नये उद्योगों के लिये 20 नये औद्योगिक क्षेत्र हो रहे हैं तैयार
यू.एस. टेक्नोलॉजी ने भोपाल में 400 करोड़ से आई.टी. केम्पस खोलने में दिखाई रूचि
मुख्यमंत्री की कई कंपनियों से निवेश पर हुई चर्चा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है उद्योगों की स्थापना में तेजी लाने के लिये 20 नये औद्योगिक क्षेत्रों में जरूरी अधोसंरचनाओं का विकास किया जा रहा है। अमेरिका यात्रा के तीसरे दिन आज न्यूयार्क में निवेशकों और अमेरिकी कंपनियों से चर्चा करते हुए श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश का औद्योगिक विकास फास्ट ट्रेक पर है। एक दशक पहले और आज के मध्यप्रदेश में जमीन-आसमान का फर्क है। आज मध्यप्रदेश निवेशकों की पहली पसंद बन गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार निवेशकों को विकास में सहयोगी मानती है। इस अवसर पर उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल और मध्यप्रदेश के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

श्री चौहान ने मध्यप्रदेश में निवेशकों का स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें किसी भी प्रकार की कोई बाधा नहीं आने दी जायेगी। राज्य सरकार औद्योगिक विकास के माध्यम से युवाओं को भी आगे बढ़ने के अवसर देना चाहती है। युवाओं को कौशल सम्पन्न बनाने के साथ ही उनमें उद्यमिता का विकास भी किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने निवेशकों और कंपनी प्रमुखों को मध्यप्रदेश में निवेश के लिये आमंत्रित किया। उन्होंने अमेरिका में बस गये सभी भारतीयों को भी इंदौर में 22- 23 अक्टूबर को होने वाली ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट में भाग लेने के लिये आमंत्रित किया।

श्री चौहान ने शिक्षा, सूचना प्रौद्योगिकी, लोक सेवा, निर्माण, बायोटेक्नोलॉजी जैसे क्षेत्र में काम कर रही कंपनियों के मध्यप्रदेश में विस्तार की संभावनाओं पर चर्चा की।

इन कंपनियों से हुई चर्चा

आरसिअस इन्फोटेक प्रायवेट लिमिटेड ने भोपाल जिले में विकास केन्द्र स्थापित करने में रूचि दिखाई है। यू.एस. टेक्नोलॉजी इंटरनेशनल प्रायवेट लिमिटेड ने 400 करोड़ रुपये के निवेश के साथ भोपाल में एक आई.टी. केम्पस स्थापित करने की इच्छा जाहिर की है।

आई.टी. और खाद्य क्षेत्र की अमेरिका की बड़ी कंपनी में एल.टी. फूड्स और उसके विक्रेताओं, ने भी निवेश की इच्छा जाहिर की।

इंटरनेशनल रिसर्च लेबोरेट्रीज प्राइवेट लिमिटेड, मोतियाबिंद से उत्पन्न होने वाले अंधेपन को समाप्त करने के लिए शुरू किये गये एक ग्लोबल कैंपेन ‘हेल्प मी.सी.’ ने भी प्रदेश में विस्तार करने में रूचि दिखाई।

आर.एम.सी., अमेरिका – आवासीय और व्यावसायिक निर्माण के लिए निर्माण सामग्री की आपूर्ति करती है। यह कंपनी अमेरिका में मिश्रित कांक्रीट, सीमेंट और कांक्रीट के मिश्रित उत्पाद उपलब्ध करवाती है।

सी.आई.एन.एन. ग्रुप निजी कंपनियों का समूह है, जो कि पब्लिशिंग, बीमा, रियल इस्टेट और मनोरंजन के क्षेत्र में कार्य करता है। यह फाउण्डेशन एक प्रमुख कल्चरल फाउण्डेशन है।

अमेरिकन एसोसिएशन आफ फिजीशियन ऑफ इंडियन ओरिजिन ए.ए.पी.आई. ऐसा मंच है जो इंडियन अमेरिकन फिजिशियंस को रोगी की देखभाल, शिक्षण और रिसर्च और प्रोफेशनल और सामुदायिक मामलों से जुड़ी उनकी आवश्यकताओं के लिए सहयोग करता है। ए.ए.पी.आई. रोगी की देखभाल, शिक्षण और रिसर्च के क्षेत्र में उत्कृष्टता लाने के लिए विशेषज्ञता को बढ़ावा देता है।

प्रोग्रेस रेल सर्विसेज कार्पारेशन अल्बर्ट विले और अलबामा में स्थित कंपनी है जो कि अमेरिका, यूरोप, एशिया, अफ्रीका और आस्ट्रेलिया में भी संचालित है। ट्रेक्स से जुड़े कार्य, सिग्नल और कम्युनिकेशन से जुड़े उपकरण और अल्ट्रॉसोनिक उपकरण बनाती है।

अमेरिका-भारत व्यापार परिषद् के साथ बैठक

मुख्यमंत्री से अमेरिका भारत व्यापार परिषद् के अध्यक्ष श्री मुकेश अघी ने मुलाकात की और व्यापार बढ़ाने की भविष्य की रणनीतियों पर विचार-विमर्श किया। अमेरिका-भारत व्यापार परिषद् दोनों सरकार की सहमति पर बना था। यह परिषद दोनों देशों के व्यापारिक संबंधों को आगे बढ़ाने वाला प्रमुख व्यापार परामर्श देने वाला संगठन है। यू.एस.आई.बी.सी. अमेरिका का सबसे बड़ा द्विपक्षीय व्यापारिक संगठन है। इसमें अमेरिकन और भारतीय कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल हैं।

“फ्रेण्डस ऑफ एम.पी.’’ में संबोधन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने फ्रेंडस ऑफ एम.पी. मंच को संबोधित करते हुए मध्यप्रदेश को दुनिया में आनंद के प्रसार की आकांक्षा रखने वाला राज्य बनाने के लिए सभी से मिलकर काम करने का आग्रह किया। उन्होंने आनंद मंत्रालय के गठन के संबंध में भी बताया।

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा लोगों के विकास के लिए मौलिक मूल्य आधारित नागरिक सहभागिता की दृष्टि से इस फोरम को बनाया गया है। यह पहल मध्यप्रदेश के ऐसे व्यक्तियों को जोड़ने के लिए की गई, जो प्रदेश से बाहर या विदेशों में रहकर अपनी मातृभूमि से जुड़े रहना चाहते हैं।

यह वेबसाइट मध्यप्रदेश सरकार को प्रदेश के मित्रों की पहचान करवाती है। उनके कौशल प्रतिभा और अनुभव को भविष्य के मध्यप्रदेश का विकास करने के लिए उपयोग करने में मददगार साबित हो रही है। यह मंच शुभचिंतकों, मित्रों और नीति-निर्धारकों के बीच एक सेतु का निर्माण करता है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s